समाचार तथा कार्यक्रम

....................................................................
List of members with extended validity

All the members of Raman Science Centre, Nagpur are hereby informed that the centre has reopened from 26th November 2020. The centre was closed from April 2020 to November 2020 during lockdown. To extend the benefit of the lockdown period the validity of membership has been Extended.  और पढ़ें >>

-------------------------------------------------
Jupiter Saturn Conjunction

The day of conjunction of the two biggest Planets of our solar system is approaching. The visitors at centre witnessing the event on 10th December 2020  और पढ़ें >>

-------------------------------------------------
Special Sky Observation Programme

Sky Observation Programme for observing the conjunction of planets visible in night sky  और पढ़ें >>

-------------------------------------------------
नव प्रवर्तन केंद्र का सदस्य कैसे बने?

How to become a member of Innovation Centre  और पढ़ें >>

-------------------------------------------------
सतर्कता जागरूकता सप्ताह 2020

.  और पढ़ें >>

-------------------------------------------------
खगोल विज्ञान पर ऑनलाइन कार्यशाला

.  और पढ़ें >>

-------------------------------------------------
रामन विज्ञान केंद्र के सदस्य कैसे बनें

.  और पढ़ें >>

-------------------------------------------------

Content on this page requires a newer version of Adobe Flash Player.

Get Adobe Flash player

सुविधाएं

साइंस कार्नर

सुविधायें
1. रामन विज्ञान केंद्र, नागपुर।
2. मनोरंजक विज्ञान
3. आविष्कार।
4. पानी: जीवन का अम्रुत
5. विज्ञान बगिचा
6. प्रागैतिहसिक प्राणि उद्यान।
7. 3D-विज्ञान शो
8. तारामंडल।
9. गोलक पर विज्ञान शो
10. चलायमान विज्ञान प्रदर्शनियां।
11. विज्ञान प्रात्यक्षिक व्याख्यान।
12. अन्य गतिविधियां।


रामन विज्ञान केंद्र, नागपुर
गांधी सागर के तट पर यह एक रोमांचक दुनिया है। यहां विज्ञान कोई विषय नहीं बल्कि एक अनुभव है । यहां विज्ञान खेलने और जानने के लिए है। यहां दर्शक प्रदर्श जैसे लीवर, पहियों, गेंदों, तार खींचने के लिए, बटन द्बाने, विज्ञान काम करने के लिए और आनंद लेने के लिए पूरा दिन बिताने के लिए स्वतंत्र है। लोग जान सकते है कि, यहां विज्ञान की अवधारणा अलग है। होली और दिवाली को छोड़कर सभी दिनों में विज्ञान केंद्र खुला रहता है।
RSC Building.jpg.resized.jpg
समय: सुबह 09.30 बजे से शाम 06.00 बजे तक
विशेष शो:
तारामंडल: दैनिक 4 शो
3-डी शो: दैनिक 4 शो
गोलक पर विज्ञान शो: दैनिक 4 शो  
१०० से अधिक छात्रों वाले संगठित समूह के लिए विशेष शो का आयोजन किया जाता है।


दिर्घाए
मनोरंजक विज्ञान –
एक प्रदर्शनी जो वैज्ञानिक सिद्धांतों की खोज के लिए अनुभव प्रदान करती है। कुछ आकर्षक प्रदर्शन फ्लोर पियानो, कोरिओलिस फोर्स, प्लाज्मा ग्लोब, आईना भूलभुलैया, गिरते सिक्के, हीरा है सदा के लिए, सकारात्मक छाया, अपनी पीठ देखें, गूंज आदि

आविष्कार
मानव इतिहास के दौरान, लोगों ने कल्पना की और अपने जीवन को बेहतर, आसान और अधिक सुखद बनाने के लिए नई नई चीजें एवम उपकरण बनाए। पहिया से पेनिसिलिन से कंप्यूटर तक, आविष्कार हमारे जीने के तरीके को बदलते रहे हैं। आविष्कारों ने दुनिया बदल दी। इनमे से कुछ आवश्यकता के कारण बनाए गये और कुछ आकस्मिक। वे अपने जाग में अन्य आवश्यक आविष्कारों को पैदा करने के लिए एक श्रुंखला का प्रभाव बनाते हैं। आविष्कार पर प्रदर्शंनी इन आविष्कारों को सामान्य रूप से आम आदमी और विशेष रूप से छात्रों के लिए प्रत्यक्ष दर्शन एवम  समझ में आने लायक बन्नने का प्रयास है । इंटरैक्टिव प्रदर्श और प्रदर्शन पैनलों जैसी प्रस्तुति तकनीकों का उपयोग करके एक ज्वलंत और आसानी से समझ में आने वाले तरीके से आविष्कार करने में शामिल मौलिक वैज्ञानिक सिद्धांतों को समझाते हुए आविष्कार की एक विस्तृत श्रृंखला इस प्रदर्शनी मे रखी गयी है। प्रदर्शनी में मौलिक विज्ञान के विभिन्न पहलुओं पर प्रदर्श शामिल हैं जैसे कि वस्तुए कैसे बनी है? रेडियो कैसे काम करता है? भाप इंजन कैसे काम करता है? ध्वनि कैसे दर्ज की जाती है? आदि .

जल: जीवन का अमृत
हमारी पृथ्वी अद्वितीय है क्योंकि यह ब्रह्मांड में एकमात्र ज्ञात स्थान है जहां पानी एक तरल के रूप में मौजूद है इस प्रकार अपनी सभी विविधता में जीवन को वुद्धीगत होने के लिए यह सक्षम करती है । जब मानव आबादी कम थी प्रुथ्वी पर उसका प्रभाव छोटा था और इसके जल निकाय भी प्रबंधनीय थे । लेकिन पिछली सदी में, इस का ऐसा  विस्फोट हुआ कि पीने योग्य पानी की मात्रा और गुणवत्ता दोनों पर प्रतिकूल प्रभाव पडा। मानव प्रभाव के परिणामस्वरूप विशाल शहरों और कस्बों का विकास हुआ है जो हमारी नदियों को अपशिष्ट की मात्रा में वृद्धि के साथ प्रदूषित करते हैं और हमारी जल प्रणालियों को खतरा पैदा करते हैं इस तरह हम इस बहुमूल्य संसाधन को अपव्यय करते हैं । पानी पर इस प्रदर्शनी-जीवन का अमृत, आगंतुकों विशेष रूप से बच्चों के बीच इस दुर्लभ और जीवन के सभी महत्वपूर्ण स्रोत के बारे में जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य बनाया गया है।
इस प्रदर्शनी मे पानी से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर प्रकाश डला गया है। जैसे हमारे ग्रह पर कितना पानी उपलब्ध है और इसका कितना प्रतिशत पीने योग्य है और पृथ्वी पर उपलब्ध पानी किस रूप में है, जल चक्र, विभिन्न महाद्वीपों पर पानी, लोगों के शरीर में पानी, जल संरक्षण, जल शोधन संयंत्र, जल के गुण, सांस्कृतिक और धार्मिक प्रथाओं और हमारी नदियों पर उनके प्रभाव आदि जैसे अन्य मुद्दों को भी प्रदर्शनियों में शामिल किया गया है । प्रदर्शनी पानी पर एक कंप्यूटर प्रश्नोत्तरी और एक प्रतिज्ञा है जो आगंतुकों को पानी के संरक्षण और हमारी भविष्य की पीढ़ियों के लिए इस अद्वितीय जीवन सहायक स्रोत की रक्षा के लिए शपथ लेने के साथ समाप्त होता है ।
जल कुशल उपकरणों पर प्रदर्शन आगंतुक को यह समझने में मदद करता है कि हम जल संरक्षण के साथ-साथ बुद्धिमान योजना, प्रबंधन और संरक्षण उपकरणों का उपयोग करके पानी की बर्बादी से कैसे बच सकते हैं। बचाया गया पानी ही उसका उत्पादन होता है।
Inauguration of Gallery- Water The Elixir of Life (1).JPG
Inauguration of Gallery- Water The Elixir of Life (2).JPG
विज्ञान बगिचा:
एक बड़ा विज्ञान पार्क, हरे भरे सुंदर परिदृश्य के 6 एकड़ से अधिक विशाल आगंतुकों को रंगीन परिवेश में आराम करने का अवसर प्रदान करता है, शहर के जीवन की हलचल और भीड्भाड से दूर और बच्चों को भौतिक विज्ञान पर आधारीत प्रदर्शन के साथ खुले प्रांगण मे खेलने के लिए अनुमति देता है । पालतू पशु पिंजरों, पक्षियोंके पिंजरे और औषधीय पौधे उद्यान भी पर्यावरण को समृद्ध करते हैं। यह एक खुले आंगन में खेलते हुए सीखने का एक जीवन भर का अनुभव है ।

प्रागैतिहसिक प्राणि उद्यान।
यह एक 3 आयामी प्रदर्शनी है जो पूर्व-ऐतिहासिक युग, जिसमें जानवरों की विभिन्न प्रजातियां समुद्र में रहने के साथ-साथ लगभग ५०० से १०,०००,००० साल पहले भूमि पर रहा करती थीं उस युग में वापस ले जाकर आगंतुकों को रोमांचित करती है । यह 2 एकड़ क्षेत्र में बना मध्य भारत में अपनी तरह का पहला उद्यान है।

3-डी साइंस शो
इस अनूठी सुविधा के साथ एक स्टीरियो प्रक्षेपण प्रणाली और विशेष रूप से प्रदान किए गये ध्रुवीकृत चश्मे का उपयोग कर 3-डी फिल्मों को देखने का अनुभव कर सकते हैं । स्क्रीन पर वस्तुओं लगभग आपकी नाक आना या जानवरों का स्क्रीन से छलांग लगाना आपको कुर्सी से उछाल देगा। स्क्रीन पर जो भी सीन हो, आपको उत्साहित होना निश्चित है।

तारामंडल:
मनुष्य द्वारा आकाश के गहन अध्ययन के परिणामस्वरूप खगोल विज्ञान का विकास हुआ। मानव सभ्यता की प्रगति के साथ खगोलीय अवलोकन के लिए नए और पहले से कहीं बेहतर उपकरण विकसित किए गए जो खगोलीय पिंडों का निरीक्षण तेज करते हुये मानव ज्ञान को व्यापक करने मे सहायक बने। रामन तारामंडल ऑप्टो-मैकेनिकल प्रोजेक्टर के संयोजन में कला पूर्ण गुंबद डिजिटल वीडियो प्रक्षेपण प्रणाली से सुसज्जित है और निश्चित रूप से लोगों को इमर्सिव प्रभाव के साथ आकाश में यात्रा कराने के तयार है।
वर्तमान में दिखा रहे : पृथ्वी से ब्रह्मांड के लिए: रात्रि के आकाश की गतिशील कहानी, राशि नक्षत्र, ब्रह्मांड, चंद्रमा, पृथ्वी, बृहस्पति और शनि, आकाशगंगा और अतिरिक्त अंतरिक्ष का ज्ञान। यह शो ऐतिहासिक खोजों पर प्रकाश डालते हुए सौर मंडल और ब्रह्मांड की संरचना के बारे में ज्ञान की वर्तमान स्थिति भी प्रदान करता है।
शो का समय- दोपहर  12.00 बजे , 01.00 बजे, 02.00 बजे, 03.00 बजे, 4.00 बजे, 5.00 बजे।
100 से अधिक छात्रों के समूह के लिए विशेष शो का आयोजन किया जाता है। टिकट दर: 50 रुपये

गोलक पर विज्ञान शो:
गोलक पर विज्ञान एक गोलाकार प्रक्षेपण प्रणाली है जो वैश्विक घटनाओं का प्रभावी रुप से प्रदर्शीत करने के उद्देश्य से, फ्लैट स्क्रीन के बजाय हवा मे लटकते गोलक पर उच्च-रिज़ॉल्यूशन वीडियो प्रस्तुत करती है। इन जटिल पर्यावरणीय प्रक्रियाओं को समझाने के लिए वायुमंडलीय तूफानों, जलवायु परिवर्तन और महासागर के तापमान की एनिमेटेड छवियां गोलक पर दिखाई जाती हैं ।
शो हर दिन दोपहर 12.00, 1.00, 2.00 3.00, 4.00, 5.00 बजे आयोजित किए जाते हैं।
SOS panorama.jpg

विज्ञान प्रात्यक्षिक व्याख्यान:
संगठित समूह की मांग पर वैज्ञानिक प्रयओगोंके साथ व्याख्यान का आयोजन किया जाता है ।


आकाश दर्शन कार्यक्रम:
हर मंगलवार और गुरुवार को आगंतुक सूर्यास्त के बाद ग्रहों, सितारों और अन्य गहरे आकाशीय  वस्तुओं का दूरबीन की मदद से निरीक्षण कर सकते हैं । (स्पष्ट आकाश के अधीन)

अन्य सुविधाएं:

ऑडिटोरियम (वातानुकूलित): क्षमता 125

चलायमान  विज्ञान प्रदर्शनी:
ग्रामीण क्षेत्र की शालाओ में विज्ञान प्रदर्शनी आयोजित करने के लिए यह इकाई बड़े पैमाने पर यात्रा करती है ।












18th January, 1825- Birthday of chemist Edward Frankland who discovered the principal of valency.

रामन विज्ञान केंद्र एवम तारामंडल हर दिन सुबह 9.30 बजे से शाम 6.00 बजे तक  आगंतुकों के लिए खुला रहता है। (केवल दिवाली और होली के दिन बंद)

कार्यालय समय: सुबह 9.30  बजे से शाम 6.00  बजे तक (सभी शनिवार, रविवार और सभी सरकारी अवकाश पर बंद)

केंद्र अब आगंतुकों के लिए फिर से खोल दिया गया है ।

 
मुद्राधिकार : रमण साइंस सेन्टर, साईट द्वारा : CsTech